Douglas Crawford

Douglas Crawford

अप्रैल 20, 2018

एंड्रॉयड अब दुनिया में ऑनलाइन होने का सबसे लोकप्रिय तरीका बन गया है, इसलिए इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि गोपनीयता की रक्षा करने के लिए एंड्रॉयड के लिए वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) का उपयोग करने में इतनी दिलचस्पी क्यों ली जा रही है।

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) और ब्रिटेन के सरकारी संचार मुख्यालय (जीसीएचक्यू) हर किसी की जासूसी कर रहे हैं। अमेरिकी सरकार ने अभी हाल ही में इंटरनेट सेवा प्रदाताओं (आईएसपी) को ग्राहकों के वेब ब्राउज़िंग के इतिहास को बेचने का अधिकार दे दिया है। ब्रिटेन की सरकार ने हाल ही में आधुनिक पश्चिमी लोकतंत्र के इतिहास में सबसे “अतिवादी” निगरानी कानून लागू किया है। दुनिया भर में, हर तरफ यही सब हो रहा है।

इंटरनेट का उपयोग करने वाले साधारण लोगों को गोपनीयता के बारे में चिंतित होना स्वाभाविक है। शुक्र है कि प्रौद्योगिकी मौजूद है जो इस गोपनीयता में काफी हद तक सुधार कर सकती है। इस प्रौद्योगिकी को वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) कहा जाता है। मैं इस लेख में बाद में ठीक से चर्चा करूंगा कि वीपीएन क्या है।

एक एंड्रॉयड उपयोगकर्ता के नाते, आपको यह जानकर खुश होना चाहिए कि प्रत्येक वीपीएन सेवा, एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म का समर्थन करती है। यह जानकर कम खुशी होती है कि हाल ही में वीपीएन में बढ़ती दिलचस्पी के कारण प्ले स्टोर में “काऊबॉय” एंड्रॉयड वीपीएन एप्स की भरमार हो गई है। सबसे अच्छी बात तो यह है कि इन्हें ख़राब तरीके से डिजाइन किया गया है और यह आपकी गोपनीयता की थोड़ी बहुत रक्षा करेंगे। और सबसे बुरी बात तो यह है कि जब आप वेब सर्फिंग करेंगे तब वे आपकी गतिविधियों पर नजर रखकर, आपके डिवाइस में मौजूद संवेदनशील डेटा को एक्सेस करके, मैलवेयर इंस्टाल करके, और इसी तरह के अन्य कार्य करके आपकी गोपनीयता और ऑनलाइन सुरक्षा को सक्रिय रूप से खतरे में डाल देंगे। इसके बारे में विस्तार से जानने के लिए, कृपया यहां देखें।

इसलिए एंड्रॉयड के लिए वीपीएन पर विचार करते समय एक सम्मानित वीपीएन सेवा चुनना बहुत जरूरी है जो एक सम्मानित स्रोत द्वारा अनुशंसित हो (जैसे BestVPN.com)। इसका लगभग यही मतलब निकलता है कि एक सशुल्क वीपीएन सेवा का उपयोग करना चाहिए।

9.8/10.0

ExpressVPN Homepage
फायदा:
  • Special Offer: 49% off today!
  • 30 दिन में पैसे वापस करने की गारंटी
  • कोई उपयोग लॉग नहीं
  • 78 देशों में सर्वर
  • बहुत अच्छी ग्राहक सेवा
  • पीयर-टू-पीयर (P2P): हाँ
नुकसान:
  • कनेक्शन लॉग
  • थोड़ा ज्यादा महंगा

बहुत अच्छी ग्राहक सेवा और उपयोग में आसानी जैसी सुविधाओं के कारण ही एक्सप्रेस वीपीएन को एंड्रॉयड वीपीएन उपयोगकर्ता इतना पसंद करते हैं। अपने विंडोज, मैक और आईओएस ग्राहकों की तरह ही, एक्सप्रेस वीपीएन एंड्रॉयड ऐप कुछ चीजों को बाद दे देता है ताकि सुनिश्चित रूप से सादगी के साथ इसका उपयोग किया जा सके। एक्सप्रेस वीपीएन अपने ग्राहकों के संतोष पर कितना ध्यान देता है इसका पता उनकी ग्राहक सहायता और इस उद्योग में सबसे आगे, उनकी 30 दिन में पैसे वापस करने की गारंटी को देखकर ही चल जाता है। Android VPNs expressvpn एक्सप्रेस वीपीएन कोई उपयोग लॉग नहीं रखता है, लेकिन यह कुछ कनेक्शन (मेटाडेटा) लॉग रखता है। यह ब्रिटिश वर्जिन आइलैंड्स में स्थित है, लेकिन यह गोपनीयता को कैसे प्रभावित करता है यह थोड़ा अस्पष्ट है। चीन के उपयोगकर्ता, हांगकांग में एक्सप्रेस वीपीएन के विशेष "स्टील्थ" सर्वरों की सराहना करते हैं, जो इसके एंड्रॉयड ऐप का भी उपयोग करते हैं।

अतिरिक्त विशेषताओं में शामिल हैं - एक साथ तीन कनेक्शन और मुफ्त स्मार्ट डोमेन नाम सिस्टम (डीएनएस

एंड्रॉयड के लिए अभी सबसे अच्छा वीपीएन ऐप प्राप्त करें!

जाएं ExpressVPN »30 दिन में पैसे वापस करने की गारंटी

9.4/10.0

Buffered Homepage
फायदा:
  • Special Offer: 49% off today!
  • Great customer support
  • Strong privacy policy and OpenVPN encryption
  • 24/7 live chat support
  • Android app
  • Servers in 37 countries
नुकसान:
  • No kill switch
  • Some connection logs

Buffered is now based in Gibraltar with its central server located in the Netherlands. It keeps no usage logs (but some connection logs), has servers located in 37 countries worldwide, and even promises to add servers upon request should users need them! It generously permits up to 5 devices to connect at once and offers 24/7 live chat support.

Buffered's unique “port discovery” feature is intriguing. It searches for open ports, allowing you to login to the WiFi at airports and hotels etc. without having to ask reception for a password.

With a 30-day money-back guarantee on offer (which is valid for ten hours of VPN use), it is easy to trial Buffered risk-free. What’s more, Buffered gives automatic refunds to subscribers who don’t use the VPN for the first seven days. All in all, a formidable VPN that is well worth the money if you commit for a year.

9.2/10.0

PrivateVPN Homepage
फायदा:
  • Best value for your money
  • 30-day money-back guarantee
  • 6 simultaneous connections
  • Great customer service
  • High streaming speeds
  • Strong encryption
नुकसान:
  • DNS must be configured manually

Sweden-based VPN provider, PrivateVPN, is an excellent choice for Android VPNs, especially after winning BestVPN.com’s “Best Value VPN” of 2018. Not only do you get a full service VPN on your mobile device at an affordable price, but you get 54 server locations, excellent customer service, super fast server speeds, and great encryption.

PrivateVPN is particularly ideal for getting into Netflix on your Android device; supporting 16 different Netflix regions! PrivateVPN also offers six simultaneous connections, WiFi protection, and a 30-day money-back guarantee for unsatisfied customers.

8.9/10.0

VyprVPN Homepage
फायदा:
  • Very fast due to own infrastructure
  • Servers in over 70 countries
  • Port selection
  • “Chameleon” stealth servers
  • No usage logs
नुकसान:
  • Connection (metadata) logs
  • P2P: no

VyprVPN is notable for being one of the rare VPN services to own and control its entire network infrastructure. The result is fantastically fast connection speeds around the world.

We strongly recommend avoiding its PPTP-only basic plan, but VyprVPN otherwise offers a great selection of features, such as a SmartDNS service, robust customer support, port selection, and servers in over 70 countries.

VyprVPNs “Chameleon” stealth technology is great for defeating censorship in places such such as China or Iran. Like ExpressVPN, VyprVPN offers a 30-day money-back guarantee.

8.6/10.0

IPVanish Homepage
फायदा:
  • एक साथ पांच कनेक्शन
  • स्मार्ट डीएनएस भी शामिल है
  • बिटकॉयन स्वीकार करता है
  • P2P की अनुमति है
नुकसान:
  • अमेरिका में स्थित है
  • ठीक-ठाक समर्थन

अमेरिका में स्थित होने के बावजूद (वहां बहुत अधिक एनएसए-भयग्रस्त नहीं), इस हाई-प्रोफ़ाइल वाले वीपीएन कंपनी की गोपनीयता का रिकॉर्ड बहुत अच्छा है। यह कोई लॉग (बिल्कुल) नहीं रखता है, बिटकॉयन में भुगतान स्वीकार करता है, और टोरेंटिंग की अनुमति देता है। आईपी वैनिश सभी ग्राहकों के लिए एक मुफ्त स्मार्ट डीएनएस सेवा भी प्रदान करता है। ipvanish-android अपने डेस्कटॉप क्लाइंट की तरह ही, आईपी वैनिश का एंड्रॉयड वीपीएन ऐप थोड़ा सा बुनियादी है। लेकिन, इसका उपयोग करना आसान है और यह अच्छी तरह काम करता है, जिससे यह एंड्रॉयड के लिए एक बहुत अच्छा वीपीएन बन जाता है।

अतिरिक्त विशेषताओं में शामिल हैं - एंड्रॉयड और आईओएस के लिए ऐप्स और 61 देशों में सर्वर।

सर्वोत्तम एंड्रॉयड वीपीएन: सोचविचार

वीपीएन क्या है?

यह एक वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) है जो आपको एक वीपीएन प्रदाता द्वारा चलाए जाने वाले एक सर्वर के माध्यम से इंटरनेट से कनेक्ट करने की अनुमति देता है। आपके कंप्यूटर, फोन या टैबलेट के बीच आने-जाने वाले सभी डेटा और यह “वीपीएन सर्वर”, सुरक्षित रूप से एनक्रिप्टेड होते हैं। इस सेटअप के परिणामस्वरूप, वीपीएन:

  • अपने आईएसपी / सेल फोन प्रदाता (और सरकार) से आपकी इंटरनेट गतिविधि को छिपाकर गोपनीयता प्रदान करता है।
  • सेंसरशिप (स्कूल, कार्य, आपके आईएसपी या सरकार द्वारा) से बचने की अनुमति देता है।
  • आपकी भौगोलिक स्थिति (या जब आप छुट्टी पर होते हैं) के आधार पर आपको अनुचित ढंग से वंचित सेवाओं का उपयोग करने के लिए आपको अपने स्थान को “भूचकमा ” देने की अनुमति देता है।
  • एक सार्वजनिक वाईफाई हॉटस्पॉट का उपयोग करते समय हैकरों से आपको सुरक्षित रखता है।
  • आपको सुरक्षित ढंग से P2P डाउनलोड करने की अनुमति देता है।

वीपीएन का उपयोग करने के लिए, आपको सबसे पहले एक वीपीएन सेवा के लिए साइन अप करना होगा। इसमें आम तौर पर हर महीने $5 से $10 खर्च आता है, और एक ही बार में छः महीने या एक वर्ष के लिए इसे खरीदने पर थोड़ी कटौती भी हो जाती है। एक वीपीएन का उपयोग करने के लिए एक वीपीएन सेवा के साथ एक अनुबंध करना पड़ता है।

आम तौर पर वीपीएन पर विस्तार से चर्चा करने के लिए कृपया मेरी शुरुआत करने वालों के लिए वीपीएन गाइड देखें।

वीपीएन, एंड्रॉयड पर कैसे काम करता है?

वीपीएन, एंड्रॉयड डिवाइस पर अच्छी तरह काम करते हैं। वे आपके डेटा को एनक्रिप्ट करते हैं और सभी इंटरनेट कनेक्शनों के लिए आपके आईपी एड्रेस को छुपा देते हैं। इसलिए, P2P डाउनलोड करने के लिए अपने ब्राउजर के माध्यम से वेबसाइटों को एक्सेस करते समय, आप एक वीपीएन का उपयोग करते समय पूरी तरह सुरक्षित रहते हैं।

लेकिन (और यह एक बहुत बड़ा लेकिन है)… सभी डेटा, वीपीएन के माध्यम से जाने के बावजूद, अलग-अलग एंड्रॉयड ऐप्स काफी बड़े पैमाने पर बेहद निजी डेटा को उनके प्रकाशकों के पास वापस भेज सकते हैं और भेजते हैं। इसमें शामिल हो सकता है – आपके फोन का अनोखा इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी (आईएमईआई) नंबर, ग्लोबल पोजिशनिंग सिस्टम (जीपीएस) लोकेशन डेटा, आपकी संपर्क सूची, आपका गूगल प्ले आईडी, इत्यादि।

कई प्रदाताओं के कस्टम एंड्रॉयड वीपीएन ऐप्स के विपरीत, एंड्रॉयड के लिए ओपन वीपीएन इंटरनेट प्रोटोकॉल वर्शन 4 (आईपीवी 4), इंटरनेट प्रोटोकॉल वर्शन 6 (आईपीवी 6) लीक प्रोटेक्शन और वेब रियलटाइम कम्युनिकेशन (वेबआरटीसी) लीक प्रोटेक्शन प्रदान करता है। इसे एक किल स्विच के रूप में कार्य करने के लिए भी कॉन्फ़िगर किया जा सकता है। इन सुविधाओं के बारे में जानने के लिए कृपया आईपी ​​लीक से संबंधित सम्पूर्ण मार्गदर्शन देखें।

इसे रोकने के लिए वीपीएन कुछ नहीं कर सकता है। यह जानकारी उस अनुमति के माध्यम से प्राप्त की जाती है जो अनुमति आप एक ऐप को देते हैं, और यह सीधे प्रकाशक के पास चला जाता है। एंड्रॉयड वर्शन 6.0+ आपको उन अनुमतियों को रेन-इन करने की अनुमति देता है जिन अनुमतियों का अनुरोध एक ऐप कर सकता है, लेकिन ऐसा करने से ये ऐप्स अक्सर काम करना बंद कर देते हैं।

लीकी ऐप्स” के कारण यह स्थिति और ख़राब हो जाती है। कई ऐप्स, अपने आप में और अपने आप से दुर्भावनापूर्ण न होने के बावजूद, बहुत बुरे तरीके से डिजाइन किए गए होते हैं। वे “धोखेबाज” अनुमतियों से पीड़ित होते हैं, और उसके बाद वे उस जानकारी को सुरक्षित नहीं कर पाते हैं जिन्हें वे सही ढंग से एकत्र करते हैं।

Leaky apps

इमेज क्रेडिट: रोविओ एंटरटेनमेंट

लीकी ऐप्स से संबंधित अधिकांश प्रचार, मोबाइल गेम्स और विशेष रूप से एंग्री बर्ड्स पर केंद्रित होते हैं। हालांकि, सभी प्रकार के एप्लीकेशन आपके बारे में बहुत अधिक जानकारी इकट्ठा करते हैं, और सोशल मीडिया ऐप्स सबसे खराब अपराधियों में से एक हैं। उदाहरण के लिए, फेसबुक ऐप, विस्तृत लोकेशन डेटा एकत्र करता है और आपके शॉर्ट मैसेज सर्विस (एसएमएस) संदेशों को एक्सेस करने की अनुमति मांगता है।

एनएसए और जीसीएचक्यू जैसे संगठन नियमित रूप से छुप-छुपकर इस तरह की जानकारी इकठ्ठा करते हैं और लक्ष्यों की रूपरेखा तैयार करने के लिए इसका उपयोग करते हैं।

तोक्या एंड्रॉयड के लिए वीपीएन का उपयोग करना ठीक है?

हाँ सचमुच। लेकिन, एक एंड्रॉयड डिवाइस पर एक वीपीएन का उपयोग करने का पूरा लाभ उठाने के लिए, आपको जितना हो सके कस्टम ऐप्स का उपयोग करने से बचना चाहिए। यह विशेष रूप से उन प्रकाशकों के ऐप्स के लिए सच है जिन पर भरोसा करने के लिए आपके पास कोई वजह नहीं है। ये आसान से दिखने वाले, विज्ञापन द्वारा वित्त पोषित होने वाले, स्पिरिट लेवल ऐप जिन्हें आपने मुफ्त में डाउनलोड किया है? इसे हटा दें।

अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर एक वीपीएन का उपयोग करके ऑनलाइन सेवाओं का उपयोग करने का सबसे निजी और सुरक्षित तरीका अपने ब्राउज़र का उपयोग करके अपने वेबपेज या वेब इंटरफेस के माध्यम से उपयोग करना है। मैं मुक्त स्रोत और सर्वमुखी गोपनीयता अनुकूल एंड्रॉयड के लिए फ़ायरफ़ॉक्स ब्राउजर का उपयोग करने की सलाह देता हूँ।

एंड्रॉयड मार्शमोलो (6.0)+ उपयोगकर्ताओं को ऐप अनुमतियों पर अधिक नियंत्रण प्रदान करता है, लेकिन ऐप द्वारा मांगी जाने वाली अनुमतियों को प्रदान करने से मना करने पर वह ऐप अक्सर काम करना बंद कर देता है। असल में, जहां भी संभव हो, ऐप्स का उपयोग करने से बचें (वीपीएन ऐप्स को छोड़कर!)।

एंड्रॉयड के लिए अतिरिक्त गोपनीयता सम्बन्धी सिफारिशें

गोपनीयता ब्राउज़र एक्सटेंशन

मैं निम्नलिखित सबसे अच्छे फ़ायरफ़ॉक्स ब्राउज़र एक्सटेंशनों को इंस्टाल करने की सलाह देता हूँ। ये सब एंड्रॉयड के लिए फ़ायरफ़ॉक्स में उसी तरह काम करते हैं जिस तरह वे डेस्कटॉप में करते हैं:

  • यूब्लॉक ओरिजिन – एक हल्का-फुल्का मुफ्त और मुक्त स्रोत सॉफ़्टवेयर (एफओएसएस) विज्ञापन-अवरोधक है जो एक एंटी-ट्रैकिंग ऐड-ऑन के रूप में डबल ड्यूटी करता है।
  • एचटीटीपीएस एवरीव्हेयर – इसे इलेक्ट्रॉनिक फ्रंटियर फाउंडेशन (ईएफएफ) द्वारा विकसित किया गया है। यह एक्सटेंशन यह सुनिश्चित करने की कोशिश करता है कि आप हमेशा एक हाइपरटेक्स्ट ट्रांसफर प्रोटोकॉल सिक्योर (एचटीटीपीएस) कनेक्शन, यदि उपलब्ध हो, का उपयोग करके एक वेबसाइट से कनेक्ट करते हैं।
  • सेल्फ-डिस्ट्रिक्टिंग कुकीज – यह कुकीज को अपने आप डिलीट कर देता है जब आप ब्राउजर टैब को बंद करते हैं जो उन्हें सेट करता है। इससे वेबसाइटों को “ब्रेक” किए बिना, कुकीज के माध्यम से ट्रैकिंग से उच्च स्तरीय सुरक्षा प्रदान करता है। यह फ्लैश / ज़ोम्बी कुकीज़ और इटैग्स से भी सुरक्षा प्रदान करता है, और डॉक्यूमेंट ऑब्जेक्ट मॉडल (डीओएम) स्टोरेज को खाली करता है।

ध्यान दें कि किसी ब्राउज़र ऐड-ऑन का उपयोग करने पर आप पर ब्राउज़र फिंगरप्रिंटिंग द्वारा ट्रैक किए जाने का ज्यादा खतरा मंडराने लगता है।

अपने फोन को गूगलमुक्त करें

एक एंड्रॉयड डिवाइस का उपयोग करते समय आपकी गोपनीयता के लिए गूगल सबसे बड़ा खतरा है। आखिरकार, यह एक ऐसी कंपनी है जिसका सम्पूर्ण व्यावसायिक मॉडल आपकी गोपनीयता के साथ छेड़छाड़ करने पर टिका हुआ है।

गूगल प्ले सर्विसेज ढांचे को विशेष रूप से गोपनीयता की दृष्टि से एक बहुत बड़ा खतरा माना जाता है। यह स्वामित्वपूर्ण सॉफ़्टवेयर, गूगल को उपयोगकर्ताओं के उपकरणों पर व्यापक निम्न स्तरीय निगरानी करने की क्षमता प्रदान करता है।

  • डिफ़ॉल्ट सिस्टम ऐप्स (गूगल के ऐप्स सहित) को अक्षम करने के लिए यहां एक गाइड दी गई है। इसके लिए रूट एक्सेस की आवश्यकता नहीं है। हालांकि, गूगल प्ले सर्विसेज (विशेषकर) को अक्षम करने से कई अन्य ऐप्स ठीक से काम करना बंद कर सकते हैं।
  • एफ-ड्रॉयड आपको गूगल प्ले स्टोर (या सर्विसेज) की आवश्यकता के बिना कई एप्लीकेशन डाउनलोड करने की अनुमति देता है।

गूगल ऐप्स (जीऐप्स) के बिना इन्हें कैसे प्राप्त किया जा सकता है इस सम्बन्ध में कुछ सुझावों के लिए यहां देखें।

CyanogenMod custom ROM

डिफ़ॉल्ट लाइनिएज ओएस 13 होम स्क्रीन, अब बंद हो चुके सायनोजेन मोड 13 का एक क्लोन है।

अपने एंड्रॉयड डिवाइस को रूट करने के लिए आपको नीचे बताए गए उपाय करने होंगे:

  • टाइटेनियम बैकअप का उपयोग किसी भी ऐप को पूरी तरह से हटाने के लिए किया जा सकता है जो आपकी डिवाइस के साथ आया था (जिसमें सभी गूगल ऐप्स भी शामिल हैं)।
  • आप नियमित एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम (ओएस) की जगह एक कस्टम रीड-ओनली मेमोरी (रोम) का उपयोग कर सकते हैं जो जीऐप्स के साथ बंडल के रूप में नहीं आता है। लाइनिएज ओएस और (सही मायने में गोपनीयता जागरूक लोगों के लिए) कॉपरहेड इसके अच्छे उदाहरण हैं।

अपने एंड्रॉयड फोन को एनक्रिप्ट करें

गूगल अपने वादे से मुकर गया है कि सभी नए एंड्रॉयड डिवाइस सम्पूर्ण डिस्क एनक्रिप्शन के साथ भेजे जाएंगे। सौभाग्य से, यह उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले एंड्रॉयड डिवाइसों (जिंजरब्रेड 2.3.4+) और किसी भी सिक्योर डिजिटल (एसडी) कार्ड को मैनुअल तरीके से एनक्रिप्ट करने के लिए एक मामूली बात है।

इसे कैसे किया जा सकता है इसके बारे में पूरी जानकारी पाने के लिए कृपया अपने एंड्रॉयड फोन को एनक्रिप्ट करने का तरीका देखें। इस गाइड में ऐसा करने के फायदे और नुकसान के बारे में गहराई से की गई चर्चा भी शामिल है।

आपको लगभग 10% प्रदर्शन का नुकसान (जो असली जिंदगी में उपयोग करने पर मुझे दिखाई नहीं देता है) झेलना पड़ेगा, आपका डिवाइस बूट करने में काफी समय लगाएगा, और यदि आप अपना फोन सुरक्षित करने के लिए पासवर्ड का उपयोग करते हैं तो कुछ समस्याएँ भी हो सकती हैं।

अपने एंड्रॉयड फोन को एनक्रिप्ट करें

गूगल अपने वादे से मुकर गया है कि सभी नए एंड्रॉयड डिवाइस सम्पूर्ण डिस्क एनक्रिप्शन के साथ भेजे जाएंगे। सौभाग्य से, यह उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाले एंड्रॉयड डिवाइसों (जिंजरब्रेड 2.3.4+) और किसी भी सिक्योर डिजिटल (एसडी) कार्ड को मैनुअल तरीके से एनक्रिप्ट करने के लिए एक मामूली बात है।

इसे कैसे किया जा सकता है इसके बारे में पूरी जानकारी पाने के लिए कृपया अपने एंड्रॉयड फोन को एनक्रिप्ट करने का तरीका देखें। इस गाइड में ऐसा करने के फायदे और नुकसान के बारे में गहराई से की गई चर्चा भी शामिल है।

आपको लगभग 10% प्रदर्शन का नुकसान (जो असली जिंदगी में उपयोग करने पर मुझे दिखाई नहीं देता है) झेलना पड़ेगा, आपका डिवाइस बूट करने में काफी समय लगाएगा, और यदि आप अपना फोन सुरक्षित करने के लिए पासवर्ड का उपयोग करते हैं तो कुछ समस्याएँ भी हो सकती हैं।

Android phone encryption

दूसरी तरफ, आपके पास एक अधिक सुरक्षित फोन होगा!

सिग्नल इंस्टेंट मैसेजिंग ऐप का उपयोग करें

आपके सेल फोन प्रदाता, स्टिंग्रे डिवाइस का उपयोग करने वाला कोई भी व्यक्ति, हैकर, इत्यादि आपके फोन और एसएमएस संदेशों को आसानी से इंटरसेप्ट कर सकते हैं। सिग्नल को व्यापक रूप से बातचीत करने का सबसे सुरक्षित एंड-टू-एंड तरीका माना जाता है जहाँ यह किसी अन्य व्यक्ति के कान में बात-करने-वाले-व्यक्ति की बातें नहीं पहुंचाता है।

 

 

अतीत में, सिग्नल की मुख्य आलोचनाओं में से एक थी गूगल प्ले सर्विसेज के ढांचे पर उसकी निर्भरता। इस समस्या को अब दूर कर लिया गया है। आप सीधे व्हिस्पर सिस्टम्स यहां से सिग्नल के लिए .apk को डाउनलोड कर सकते हैं।

एंड्रॉयड के लिए वीपीएन को सेट करने का तरीका

कस्टम वीपीएन ऐप्स

एंड्रॉयड के लिए एक वीपीएन स्थापित करने का सबसे आसान तरीका प्ले स्टोर से एक कस्टम वीपीएन ऐप डाउनलोड करना है। यह किसी अन्य एंड्रॉयड ऐप को स्थापित करने जैसा ही है। आप इन-ऐप खरीदारी के माध्यम से सेवा के लिए (अक्सर निशुल्क आजमाइश के बाद) साइन अप कर सकते हैं, या आपको ऐसा करने के लिए प्रदाता की वेबसाइट पर जाना पड़ सकता है।

हालांकि, कृपया ध्यान दें, मैंने इस लेख की शुरुआत में क्या कहा था। प्ले स्टोर के माध्यम से ढेर सारे काऊबॉय ऐप्स उपलब्ध हैं। इससे भी अधिक चिंता की बात तो यह है कि इनमें से कई ऐप्स के बारे में साधारण उपयोगकर्ताओं की तरफ से अनुकूल समीक्षाएं देखने को मिलती हैं जो उनके गोपनीयता निहितार्थों का आकलन करने के योग्य ही नहीं हैं।

इसलिए मैं इसे फिर से कहूंगा: कृपया केवल उन ऐप्स को ही डाउनलोड करें जिन्हें एक सम्मानित स्रोत द्वारा अनुशंसित किया गया है! विशेष रूप से, मुफ्त ऐप्स से तो बचकर ही रहना चाहिए।

अपना वीपीएन मैनुअली सेट करें (पीपीटीपी और एल2टीपी / आईपी एसईसी)

अधिकांश एंड्रॉयड डिवाइस निर्माता अपने खुद के कस्टम स्किन की मदद से ओएस को “बेहतर” बनाने की कोशिश करते हैं। इसके अतिरिक्त, दुनिया में एंड्रॉयड के कई वर्शन मिल सकते हैं। इसलिए डिवाइस के आधार पर विवरण भिन्न हो सकते हैं, लेकिन नीचे दिए गए निर्देश अधिकांश एंड्रॉयड उपयोगकर्ताओं के लिए पर्याप्त होने चाहिए:

  1. सेटिंग -> मोर नेटवर्क्स -> वीपीएन में जाएं। ध्यान दें कि आपको इसके लिए एक लॉक स्क्रीन सेट अप करना होगा। यदि आपने पहले से ऐसा नहीं किया है, तो बस प्रॉम्प्ट का अनुसरण करें।
  2. वीपीएन नेटवर्क को जोड़ने के लिए + को स्पर्श करें। अपने वीपीएन कनेक्शन के लिए एक नाम दर्ज करें, प्रकार चुनें, और अपने वीपीएन प्रदाता द्वारा दिए गए विवरण दर्ज करें।

 

Android PPTP

पीपीटीपी सेटअप बेहद आसान है, लेकिन बहुत ही असुरक्षित है, इसलिए चिंता न करें।

Android L2TP 1

एल2टीपी / आईपी एसईसी सेटअप अभी भी बहुत आसान है, लेकिन यह बहुत अधिक सुरक्षित है। इसके लिए आम तौर पर एक लम्बा और पहले से शेयर की गई कुंजी दर्ज करनी पड़ती है।

  1. जांच कर देखें कि आप कनेक्ट हुए हैं या नहीं।

Android VPN connected

टास्कबार में कुंजी आइकन से आपको पता चल जाता है कि आप वीपीएन सर्वर से कनेक्ट हैं या नहीं।

ओपन वीपीएन को मैनुअल तरीके से सेट करने का तरीका

ओपन वीपीएन कनेक्ट पूरी तरह से एक अच्छा ऐप है, लेकिन इस ट्यूटोरियल में मैं और अधिक भरपूर विशेषताओं से लैस और मुक्त स्रोत एंड्रॉयड के लिए ओपन वीपीएन का उपयोग करूँगा। वर्शन 2.4.0 के अनुसार, इसमें पूर्ण आईपीवी 4, आईपीवी 6 और वेबआरटीसी लीक प्रोटेक्शन की सुविधा है। जैसा कि ऊपर बताया गया है, इसे एक किल स्विच के रूप में कार्य करने के लिए भी कॉन्फ़िगर किया जा सकता है।

  1. अपने वीपीएन प्रदाता की वेबसाइट से ओपन वीपीएन कॉन्फ़िगरेशन फाइल डाउनलोड करें। उन्हें अनज़िप करें (यदि आवश्यक हो) और अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर किसी फ़ोल्डर में स्थानांतरित करें। वैकल्पिक रूप से, उन्हें सीधे अपने एंड्रॉयड डिवाइस में डाउनलोड करें और जेड आर्काइवर जैसे किसी ऐप में उन्हें अनज़िप करें।
  2. एंड्रॉयड के लिए ओपन वीपीएन डाउनलोड करें, इंस्टॉल करें और चलाएं (यदि आपके पास पहले से नहीं है)। “एड प्रोफ़ाइल” स्क्रीन के ऊपर दाईं ओर + आइकन पर स्पर्श करें। प्रोफ़ाइल को एक उपयुक्त नाम दें, और “इम्पोर्ट” पर क्लिक करें।

Android ovpn 1

  1. उस फ़ोल्डर में जाएं जहां आपने अनजिप किए गए ओपन वीपीएन कॉन्फ़िग फाइल को सेव करके रखा है, और एक सर्वर (.ovpn फाइल) चुनें। इम्पोर्ट हो जाने के बाद, जारी रखने के लिए ✔ आइकन को स्पर्श करें।

Android ovpn 2

  1. यह सब हो जाने के बाद, आपको प्रोफाइल्स टैब के नीचे सर्वर का नाम दिखाई देगा। वीपीएन को शुरू करने के लिए, बस इसे स्पर्श करें। आप जितने चाहें उतने सर्वरों के लिए .ovpn फाइलें इम्पोर्ट कर सकते हैं, और वे यहां दिखाई देंगे।

Android ovpn 3

कई प्रदाता कस्टमाइज्ड .ovpn फाइलों में सभी आवश्यक कुंजियाँ और खाता जानकारी डाल देते हैं इसलिए आगे चलकर किसी कॉन्फ़िगरेशन की जरूरत ही नहीं पड़ती है। अन्य प्रदाताओं के मामले में आपको अपनी खाता जानकारी और अन्य विवरण दर्ज करना पड़ सकता है। विशेष निर्देशों के लिए कृपया अपने प्रदाता के दस्तावेज देखें।

एंड्रॉयड के लिए सर्वोत्तम वीपीएन: निष्कर्ष

अपने एंड्रॉयड डिवाइस पर एक वीपीएन का उपयोग करने से आपको अपने डेस्कटॉप सिस्टम में एक वीपीएन का उपयोग करने के सभी सुपर-कूल फायदे मिल सकते हैं। बस यह जानकारी जरूर रखें कि आपके ऐप्स आपकी चुगली कर सकते हैं (और शायद चुगली करेंगे), इसलिए अपने ब्राउजर (ठीक उसी तरह जिस तरह आप अपने डेस्कटॉप डिवाइस में करते हैं!) के माध्यम से ही अपने सारे काम करने की कोशिश करें।

अधिकांश “उचित” वीपीएन प्रदाता आपको अपनी सेवा की मदद से एक साथ दो या दो से अधिक डिवाइसों का उपयोग करने की अनुमति देते हैं। इसलिए यदि एक साथ पांच कनेक्शन की अनुमति है, तो आप अपने एंड्रॉयड फोन, अपने एंड्रॉयड टैबलेट, अपने विंडोज डेस्कटॉप कंप्यूटर, मैकबुक और आपके पार्टनर के आईफोन के साथ उसी सदस्यता का उपयोग कर सकते

 

* सभी मूल्य अमेरिकी डॉलर में दिखाए गए हैं

* विज्ञापनदाता का प्रकटीकरण

Douglas Crawford
April 20th, 2018

I am a freelance writer, technology enthusiast, and lover of life who enjoys spinning words and sharing knowledge for a living. You can now follow me on Twitter - @douglasjcrawf.

34 के उत्तर “5 सर्वोत्तम एंड्रॉयड वीपीएन 2018

  1. Sir Rico कहते हैं:

    First I want to say that this website was God sent.. So much important information and very easy to follow..
    I recently started looking into VPN services when a few apps I use were unreachable through a Pocket WiFi connection at a friends house…
    One of the apps provided a link to Play Store and I discovered **Protect Free VPN+Data Manager** by Onavo.. It seemed to do the trick so I stuck with it for awhile.. I did a little research and read a few comments by Play Store users and noticed that there was more than meets the eye.. After reading their Privacy Policies I discovered that a lot of data can be shared for whatever reason.. I figured well its a “Free” service so I shouldn’t complain.. No biggie because I don’t require to use it so much and I use **Greenify** (with my rooted phone) to keep it from from using my data in the background..
    Well long story short I noticed a mass amount of “Free” VPNs during my Play Store searches and came across **Ultra VPN – Unlimited Proxy & Hide IP** by Digital Seo Web.. Overall it seems to do the job with plenty of countries to chose from..
    Have you had any reviews for this app? I couldn’t find anything searching this site.. Thanks in advance for your professional insight. BestVPN Rocks!!

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi Sir rioco,

      I’m g;lad you find this website useful! I am not familiar with the VPN servcice you mention. Unfortunately there are literally hundreds of free Android-only VPN services out there, and most of simply cannot be trusted. We always recommend using a paid-for VPN from a reputable and established provider instead. A quick look tells me the Ultra VPN shows no ads, so you have to ask yourself how it makes money (and it will!). Unlike many more reputable VPNs, it is not being offered for free in the hope that you will upgrade to a more fully-featured premium plan.

  2. Charlie कहते हैं:

    Your explanation of the advantages of VPN seems to include the following:
    (1) Greater safety from being hacked by those who want to pirate your personal information.
    (2) Greater safety from being detected while hacking, e.g., downloading pirated material.
    I suspect that these different goals are somewhat contradictory, because any party which will help you achieve (2) necessarily operates with a level of closed secrecy which leaves you vulnerable to violation of (1). Moreover, it is natural that criminal hackers would gravitate to operating piracy-enabling systems to attract user-victims because those user-victims would be less likely to report any violations of personal privacy.
    Since long before the internet was even born, some criminals have always specialized in leveraging information about illegal or embarrassing conduct to enrich themselves, and positioned themselves accordingly.
    For this reason, I suspect that relaying communications via Panama is not a good way to ensure your information is kept out of the hands of hackers.

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi Charlie,

      Um… well, other than the fact that downloading pirated material has got nothing to do with hacking…

      – a VPN will prevent your ISP and governmnet from tracking everything you do online. If you live in the US, it will therefore also prevent your ISP selling your entire browsing history to its advertising partners.
      – a VPN will also help prevent websites you visit from knowing who you and tracking you as you surf the internet in order to target highly personalized ads at you.
      – for the above reasons a huge number of ordinary law abiding internet users are turning to VPNs in order to have some kind of privacy when online.
      – cowboy and criminal VPN services do exist, which is why it is important to use well-established, respected and trustworthy providers whose business model relies on them respecting (and, indeed, protecting) their customers privacy.

  3. Jonx कहते हैं:

    This list is complete rubbish. Private Internet Access is the best VPN for android

    1. Ray Walsh कहते हैं:

      Private Internet Access is a good VPN and it is cheap. However, it has been suffering from a lot of complaints about close to none existent support in recent months. For this reason, it has slipped off some of our lists. Android users aren’t always techy minded and do need help at times, and a help service that can take weeks to get back to consumers simply isn’t considered good enough to recommend to Android users at this time.

  4. Dredz कहते हैं:

    What about VPN Area anyone have any thoughts on them?

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi fer,

      But not really. VyprVPN only permits P2P of legal content…

      1. fer कहते हैं:

        I’m seeding with vyprvpn (openvpn)

        1. Douglas Crawford कहते हैं:

          Hi fer,

          I can only say that downloading copyrighted content is expressly prohibited is VyprVPN’s ToS, and that we have received complaints by readers that their accounts have been blocked for torrenting. Please see the comments section of our VyprVPN Review.

  5. Ernest कहते हैं:

    Wat about the operating system? Would ios, android or windows be most secured? Thanx..

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi Ernest,

      Thanks to its closed eco-system, iOS devices are very secure. But they are not in any way private, as they tell Apple a great deal of information about you. Windows is neither secure nor private and neither is Android by default. You can make Android more private, however, by flahing it with an open source ROM that does not use Google Apps (e.g. Copperhead).

  6. E. Keen कहते हैं:

    Hi Douglas,
    very informative article, thank you for sharing!
    Just wanted to let you know that the link you’re providing for CyanogenMod is no longer active. They changed CyanogenMod to C-Apps (https://cyngn.com/c-apps).

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi E.Keen,

      Thanks. I am aware that CyanogenMod has been discontinued. Thanks for the link (added to the article).

  7. Nicolaï कहते हैं:

    Oh…sorry another question, why no mention of HideMyAss VPN?
    …still newbie.

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi again Nicolaï,

      In my view HMA is one of the worst VPN services on the market. I finds its software clunky, its encryption to be meh, and connections slow. Even more damning, this UK company keeps details logs and has quite the track record for handing over them over to the authorities.

  8. Nicolaï कहते हैं:

    Thanks Douglas dor article and others for comments. As a total newbie, I am curious as to why you Douglas emphasize so strongly your opposition to GooglApps but then sign off from Google+ ? Contradiction of terms ?
    Thanks. Peace!

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi Nicolaï,

      To some extent I must admit this is a case of “Do what I say, not what I do.” That said, although I work as an editor here at BestVPN.com, I am also a freelance writer. Many clients prefer me to have a G+ plus page as this is great for providing a cross-publication Author’s profile. If you actually visit my G+ page, though, you will see that I do not take much care over its upkeep.

  9. Tay कहते हैं:

    You’re stup I’d if you think being based in US is not safe and outside US in places like Panama keepa you out of the reach of certain agencies. You have rights as a citizen in anerica. Dumbasaws

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi Tay,

      As Snowden proved, the NSA and its ilk do not give a rat’s ass about the constitutional rights of US citizens. At least places such as Panama are outside its ability to directly come and subpoena the VPN company and force it log users’ activity and hand that data over to US authorities.

    2. al कहते हैं:

      Right to have those “rights” VIOLATED DAILY you brainwashed idiot!

  10. Peter कहते हैं:

    How is it possible to make a best VPN list without AirVPN? Seriously. ExpressVPN has “connection logs” as one of its cons in your list. But in all other lists, AirVPNs main (and often only) con is “too techy”. What’s most important in a VPN? Too techy or having connection logs? You know the answer.

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi Peter,

      If you have read any of my stuff, you will know that I am a big AirVPN fan (in fact I use it as my personal VPN). The reason it is not on this Android-specific list is easy – AirVPN does not offer a dedicated Android client. As I also discuss in this article, this is not a major problem, as the OpenVPN for Android app is rather excellent, but it does mean that it does not qualify for this category.

    2. TheMe कहते हैं:

      Indeed AirVPN gets me quite confused, however I use it on my desktop with OpenVPN, and find it works quite nicely. In addition I have OpenVPN for Android on my phone along with files generated from AirVPN. But I am confused as to whether or not that allows OpenVPN to protect my phone. I know that OpenVPN must be paired with an actual VPN client – do the files from AirVPN cover that, or do I need to use a completely different VPN if I want to make good use of OpenVPN?

      Currently I am using a VPN that does not work with openVPN (but at least I know it is doing something, whereas OpenVPN may or may not be).

      Knowing a definite answer to this literally decides if I Keep AirVPN on the desktop when the time for renewal gets here. Altho at this point I think NordVPN might be the alternative for both desktop and phone.

      1. Douglas Crawford कहते हैं:

        Hi TheMe,

        AirVPN permits 5 simultaneous connections. This means that you can run it on 5 different devices at once – so no, you do not need to get another VPN. Vist the AirVPN website -> sign in -> Enter -> Android – OpenVPN for Android for instructions.

        If you are not sure whether a VPN is working on your phone then connect to a server in a different country and the visit ipleak.net in your phone’s browser. If it is working correctly, you should see ip addresses belong to that country, not yours.

  11. John Doe कहते हैं:

    Hello

    This must be an error?
    “NordVPN does not offer a custom Android app”

    1. Douglas Crawford कहते हैं:

      Hi John and Ronny,

      Thanks. I missed that. NordVPN does indeed offer a dedicated Android app. My bad.

  12. Ronny कहते हैं:

    Hi

    I think NordVPN has Android app – at least I’m using such. 🙂

    Cheers

  13. Naina patel कहते हैं:

    I found flash your device with a more secure custom rom this point is the best i liked and it really worked for me.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *