English

Looking for Something?

फाइल शेयरिंग के लिए 5 सबसे अच्छे वीपीएन, टोरेंटिंग, P2P

ऑनलाइन पर आपकी पहचान की रक्षा करना, ख़ास तौर पर टोरेंटिंग करते समय, बेहद जरूरी होता है। एक वीपीएन यही तो करता है (इसके साथ-साथ जियोलॉक्ड कंटेंट को अनब्लॉक भी करता है और पब्लिक वाईफाई पर आपकी रक्षा भी करता है)। इनकेप्रदाताओं के बारे में गहराई से जानने के लिए,कृपयाबाकी का लेख पढ़ें, लेकिन जो लोग जल्दी से इसका जवाब चाहते हैं उनके लिए यहाँ एक क्विकटीएल;डीआर दिया गया है।

[bestbuy3]

नीचे हमारी सबसे अच्छी वीपीएन टोरेंटिंग सेवाओं की सूची देखें, उसके बाद इस विषय के बारे में विस्तार से जानने के लिए आगे पढ़ें।

सबसे अच्छे P2P और टोरेंटिंग वीपीएन: सारांश

[reviewsc image=1 title="##"]

टोरेंटिंग और P2P वी एन: विचार

टोरेंटिंग, “डाउनलोडिंग”, पी2पी(पीयर-टू-पीयर), और फाइल-शेयरिंग इन सब का एक ही मतलब होता है।बिटटोरेंट प्रोटोकॉल के माध्यम से कंटेंट प्राप्त करना टोरेंटिंग कहलाता है। लेकिन बिटटोरेंट प्रोटोकॉल जिस तरह काम करता है उसका यही मतलब है कि टोरेंटिंग के लिए वीपीएन जरूरी है यदि आप डाउनलोड करते समय अपनी रक्षा करना चाहते हैं।

बिटटोरेंट, फाइलों को डाउनलोड करने का एक बहुत ही कार्यकुशल तरीका है, औरचूंकि इसके लिए किसी केंद्रीकृत सर्वर की जरूरत नहीं पड़ती है इसलिए कॉपीराइट के मुद्दों की परवाह न करने वाले लोगों को यह सुनिश्चित रूप से पसंद आता है। दुर्भाग्य से,कॉपीराइट धारक ऐसे मुद्दों की परवाह करतेहैं।औरइसी वजह से बिटटोरेंट प्रोटोकॉल इसके उपयोगकर्ताओं के लिए कुछ हद तक एक दायित्व बन सकता है।

मैंने ऊपर अंत में जिन दो शब्दों (पी2पी और फाइल-शेयरिंग)का जिक्र किया है उनसे पता चलता है कि जब आप किसी टोरेंट फाइल को “डाउनलोड” करते हैं तब आप असल में उस फाइल के हिस्सों को किसी और के साथ शेयर कर रहे होते हैं जो खुद भी उसे डाउनलोड कर रहा होता है या उस फाइल को शेयर कर रहा होता है।

इसका एक संभावित बुरा साइड-इफेक्ट यह है कि ये सभी “पीयर” या साथी आपका आईपी एड्रेस देख सकते हैं (और आप उनका आईपी एड्रेस देख सकते हैं)।

VPN for torrents

यहाँ वुज़ में मैं आसानी से हर किसी का आईपी एड्रेस देख सकता हूँ जो मेरी तरह उसी फाइल को शेयर कर रहे हैं

यह सुनकर किसी को हैरानी नहीं होनी चाहिए कि कॉपीराइट धारक “पाइरेट्स” को पकड़ने के लिए अपनी बौद्धिक संपदा (आईपी) के पी2पी डाउनलोड पर नियमित रूप से नजर रखते हैं। अच्छी खबर यह है कि यदि आप एक वीपीएन की मदद से टोरेंट करते हैं तो यह आपको इससे बचा लेगा जब तक प्रदाता पी2पी की अनुमति देता है। सब ऐसा नहीं करते हैं!

टोरेंटिंग के लिए वीपीएन कैसे मेरी रक्षा करते हैं?

एकवीपीएन का उपयोग करने से आपके कंप्यूटर और एक वीपीएन प्रदाता द्वारा चलाए जाने वाले एक वीपीएन सर्वर के बीच एक एनक्रिप्टेड कनेक्शन का निर्माण होता है। उसके बाद यह वीपीएन सर्वर आपके और इंटरनेट के बीच एक प्रॉक्सी की भूमिका निभाता है। इससे होने वाले फायदों के बारे में विस्तार से जानने के लिए, मेरीशुरू करने वालों के लिए वीपीएनगाइड देखें।हालाँकि,पी2पी के सम्बन्ध में, निम्नलिखितबातें अतिमहत्वपूर्ण हैं:

  • आपका आईएसपीनहीं देख सकता कि आप इंटरनेट पर क्या करते हैं क्योंकि आपके कंप्यूटर और वीपीएन सर्वर के बीच से होकर गुजरने वाले सभी डेटा एनक्रिप्टेड होते हैं।इसका मतलब है कि आपका आईएसपी नहीं देख सकता कि आप टोरेंट कर रहे हैं, या असल में आप क्या टोरेंट कर रहे हैं।
  • इंटरनेट से देखने वाला कोई भी व्यक्ति (जैसे कॉपीराइट धारक जो उनके हीकंटेंट को डाउनलोड करने वाले टोरेंट उपयोगकर्ताओं के आईपी एड्रेस पर नजर रखते हैं) वीपीएन सर्वर का आईपी एड्रेस देखेगा, न कि आपका असली आईपी एड्रेस।दूसरे शब्दों में, एक वीपीएन का उपयोग करने से आपका असली आईपी एड्रेस छिप जाता है। इसका यही मतलब है कि आपके बजाय वीपीएन प्रदाताओं को कॉपीराइट धारकों की नाराजगी का सामना करना पड़ेगा...
  • जो देश कॉपीराइट के आधार पर वेबसाइटों को सेंसर नहीं करते हैं उन देशों में स्थित वीपीएन सर्वरों से कनेक्ट करके आप टोरेंट साइटों को एक्सेस कर सकते हैं जो आम तौर पर आपके लिए ब्लॉक्ड रहते हैं।

एक अच्छे टोरेंट वीपीएन का चयन 

जैसा कि आप जानते ही होंगे,टोरेंटिंग के कुछ ख़ास पहलू अवैध होते हैं। लेकिन, टेक्नोलॉजी की दृष्टि से,बस कोई भी वीपीएन सेवा, कॉपीराइट धारकों से आपको बचाने का एक अच्छा काम कर सकतीहै। लेकिन, कईवीपीएन प्रदाता ऐसा नहीं करते हैं।

नैतिकता के आधार पर, या(और अधिक आम तौर पर)जहाँ ये स्थित हैं वहाँ की कानूनी स्थिति के कारण अपने सर्वरों पर पी2पी की अनुमति प्रदान करना कॉपीराइट उल्लंघन की दृष्टि से उनके लिए बेहदशत्रुतापूर्ण औरकष्टदायक हो सकता है। असल में लगभग इसी तरह के कारण की वजह से कुछ वीपीएन प्रदाता अपने कुछ सर्वरों पर टोरेंट करने की अनुमति देते हैं लेकिन अन्य सर्वरों पर नहीं (जोसर्वरअक्सर यूएस या यूके में स्थित होते हैं)।

यह बात ध्यान देने योग्य है कि टोरेंटिंग के लिए मुफ्त वीपीएन, बुनियादी तौर पर मौजूद ही नहीं है (सिर्फएक को छोड़करजहाँ तक मैं जानता हूँ)।कॉपीराइट धारकों की क्रुद्ध कानूनी मांगों से निपटना काफी हद तक बहुत ज्यादा परेशानी का कारण होता है जब उपयोगकर्ता, सेवा के लिए भुगतान भी नहीं कर रहे होते हैं!

लेकिनकई सशुल्क वीपीएन प्रदाता पी-2-पी का उपयोग करने वाले अपने ग्राहकों की रक्षा करकेबहुत अच्छा काम करते हैं। और यदि एक वीपीएन प्रदाता अपनी सेवा का उपयोग करके टोरेंट करने की अनुमति देते हैं तो उनके व्यवसाय की प्रतिष्ठा ऐसा करने की उनकी क्षमता पर निर्भर होती है।

इसलिए यदि एक प्रदाता पी2पी की अनुमति देता है तो आप सुरक्षित हैं। बस एक बार जांच लें। यदिनहीं तो यहआपके आईएसपी को डीएमसीए और इसी तरह की चेतावनी पास कर सकती है (जो तब आपको गंदे पत्र भेजेंगे)। यह आपके विवरणों को सीधे कॉपीराइट धारकों के वकीलों को भी सौंप सकते हैं...

Vuze settings

वुज़बिटटोरेंट क्लाइंट आपको वुज़ को आपके वीपीएन इंटरफेस से बाँधने की अनुमति देता है ताकि यह सिर्फ तभी डाउनलोड (और सीड) करेगा जब आपका वीपीएन कनेक्शन सक्रिय रहेगा। इसेकैसे करना चाहिए, इससे संबंधित निर्देशों के लिए यहाँदेखें

काल्पनिकइनवॉइसिंग और ऐसे अन्य गंदे काम 

यूकेऔरभारतजैसे देश, ऑनलाइन कॉपीराइट अपराधों (कम से कम कागज़ पर) के मामले में सख्त से सख्त होते जा रहे हैं, लेकिन अधिकांश स्थानों में पाइरेसी एक अपराधिक अपराध के बजाय अभी भी एक नागरिक अपराध ही है। यद्यपि इसका मतलब यह है कि पकड़े जाने पर जेल नहीं जाना पड़ेगा, लेकिन इसका मतलब यह भी नहीं है कि आप बिना कोई कीमत चुकाए इससेआसानी से बचकर निकल सकते हैं।

सबसे ज्यादा आम तौर पर दी जाने वाली सजा है - आपके आईएसपी से मिलने वाले चेतावनी पत्र।यदि आप इनमें से कई पत्रों को नजरअंदाज कर देते हैं तो आपकी सेवा रोक दी जा सकती है, या रद्द भी की जा सकती है।सैद्धांतिक रूप से आपको कॉपीराइट धारकों द्वारा नागरिक नुकसान के लिए अदालत का मुंह भी देखना पड़ सकता है और मुआवजे के तौर पर हजारों डॉलर देने काआदेश भी मिलसकता है।

असल में, इस तरह के दोष को सिद्ध करना आसान नहीं है। इसलिए कॉपीराइट धारक अपने आईपी की पाइरेसी को भुनाने के लिए अक्सर “कॉपीराइट ट्रोल” काउपयोग करते हैं।इसके लिए वे “काल्पनिक इनवॉइसिंग” का तरीका अपनाते हैं जिसके तहत कॉपीराइट का उल्लंघन करने वाले शिकार व्यक्ति को उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने (औरउससे संबंधित अदालत की फीस चुकाने) की धमकी दी जाती है यदि वे अदालत के बाहर कुछ कम पैसे देकर इस मामले को नहीं निपटाते हैं।

यदि आपके साथ ऐसा होता है तो कृपया यूके सरकारकाआधिकारिक मार्गदर्शनऔर(मेरी राय में इससे भी ज्यादा उपयोगी) टोरेंट फ्रीक काकाल्पनिक इनवॉइसिंग हैंडबुक देखें। ये दोनों दस्तावेज यूके से संबंधित हैं लेकिन उनमें दी गई सलाह काफी हद तक उपयोगी है यदि आप यूरोप या उत्तरी अमेरिका में रहते हैं।

लेकिन यदि आप टोरेंटिंग के लिए एक वीपीएन का उपयोग करते हैं तो कभी कोई समस्या नहीं होनी चाहिए।

आपका टोरेंटिंग वीपीएन आपकी रक्षा कर रहा है या नहीं, इस बातकी जाँच करने का तरीका 

अपनी वीपीएन सेवा से कनेक्टेड रहने के दौरान:

  1. netमें जाएं।यदि आपको अपना असली आईपी एड्रेस या अपने आईएसपी से संबंधित एक एड्रेस दिखाई नहीं दे रहा है तो इसका मतलब है कि आप सुरक्षित हैं।

आपको असल में कुछ और करने की जरूरत ही नहीं है, लेकिन यदि आप एक पैरानॉयड एंड्रॉयड हैंतोआप विशेष रूप से इस बात की जांच कर सकते हैं कि आपका बिटटोरेंट क्लाइंट आपकाअसली आईपी एड्रेस लीक कर रहा है या नहीं।ऐसा करने के लिए:

  1. net वेब पेज में रहने के दौरान और अपने वीपीएन से कनेक्टेड रहने के दौरान, नीचे की तरफ स्क्रॉल करते हुए“Torrent Address detection” तक जाएं और अपने टोरेंट क्लाइंट में मैगनेट लिंक जोड़ें।

IPleak.net अपने अनोखे ढंग से उत्पन्न की गई टेस्ट टोरेंट फाइल (अर्थात् आप) को शेयर करके बाकी हर किसी के आईपी एड्रेस पर नजर रखेगा। कुछ मिनट के बाद,IPleak.net वेब पेज परिणाम दिखाने लगेगा।

torrent address detection

एक बार फिर, जब तक आपके या आपके आईएसपी से संबंधित कोई आईपी दिखाई नहीं देता है तब तक आप सुरक्षित होते हैं

ध्यान दें कि आपको कोई चीज डाउनलोड करते समय हमेशाकिसी न किसी तरह केएक किल स्विचका उपयोग करना चाहिए। ऐसा न करने पर, वीपीएनड्रॉपआउट के परिणामस्वरूप आपका आईपी दुनिया के सामने आ जाएगा। अक्सर एक समयमें कुछ घंटों के लिए यदि आप अपने डाउनलोड को अपनी पहुँच के बाहर छोड़ देते हैं!

पोर्ट फॉरवार्डिंग 

कुछपी2पीवीपीएन, पोर्ट फॉरवार्डिंग का समर्थन करते हैं। यह फाइल शेयर करने वालों के लिए बहुत बढ़िया (कम से कम सैद्धांतिक रूप से)है, क्योंकि यह एनएटी फ़ायरवॉल्स के उपयोग से संबंधित समस्याओं पर काबू पा सकता है।अधिकांश वीपीएन प्रदाता, इंटरनेट से आने वाले ट्रैफिक से उपयोगकर्ताओं की रक्षा करने के लिए एनएटी फ़ायरवॉल्स का उपयोग करते हैं। लेकिन जब इस आगत ट्रैफिक में पी2पी ट्रैफिक शामिल होता है तब यह समस्याएँ पैदा कर सकता है।

वीपीएन एनएटी फ़ायरवॉल्स आपके डाउनलोड को धीमा करके सिर्फ आपको, व्यक्तिगत उपयोगकर्ता को ही प्रभावित नहीं कर सकता है,बल्कि यह सभी उपयोगकर्ताओं के लिए सम्पूर्ण पी2पी नेटवर्क को धीमा कर सकता है। इस समस्या का समाधान है - पोर्ट फॉरवार्डिंग, जो आपको पी2पी ट्रैफिक से होकर गुजरने देने के लिए एनएटी फ़ायरवॉल में एक पोर्ट को खोलने की अनुमति देता है।

इससे आपकी व्यक्तिगत डाउनलोड स्पीड में सुधार होना चाहिए, और सम्पूर्ण पी2पी नेटवर्क को अधिक कार्यकुशल बनाने में मदद मिलनी चाहिए। पोर्ट फॉरवार्डिंग का अधिक से अधिक फायदा उठाने के लिए, आपके टोरेंट क्लाइंट को यह पता होना चाहिए कि कौन सा पोर्ट खुला हुआ है। उसके बाद यह आने वाले कनेक्शनों पर ध्यान दे सकता है।

कुछ क्लाइंटों पर, इसे मैनुअल तरीके से कॉन्फ़िगर करना पड़ता है, जबकि अन्य क्लाइंट एनएटी पोर्ट मैपिंग प्रोटोकॉल (एनएटी-पीएमपी)औरयूपीएनपीपोर्टमैपिंग जैसी टेक्नोलॉजियों का सपोर्ट करते हैं। इनका लक्ष्य, प्रक्रिया को स्वचालित बनाकर आपके काम को अधिक आसान बनाना है।

The qBittorrent client

क्यूबिटटोरेंट एक लाईटवेट ओपन सोर्स बिटटोरेंट क्लाइंट है जो यूपीएनपी/ एनएटी-पीएमपी पोर्ट फॉरवार्डिंग का सपोर्ट करता है

सबसे अच्छा टोरेंटिंग वीपीएन: सारांश

स्विट्ज़रलैंड में, व्यक्तिगत उपयोग के लिए कॉपीराइट वाला कंटेंट डाउनलोड करना वैध है। और यूरोप के बाहर कई स्थानों में या अंग्रेजी बोलने वाली दुनिया में,सचमुचकोई परवाह नहीं करता है।लेकिनयदि आप किसी ऐसी जगह पर रहते हैं जहाँ कॉपीराइट पाइरेसी पर ध्यान दिया जाता है तोएक वीपीएन की सुरक्षा के बिना पी2पीडाउनलोडकरना पागलपन है।

Written by: Douglas Crawford

I am a freelance writer, technology enthusiast, and lover of life who enjoys spinning words and sharing knowledge for a living. You can now follow me on Twitter - @douglasjcrawf.

11 Comments

  1. Louis Coleman
    on July 17, 2018
    Reply

    Hi thanks for sharing this. I think all that you said are correct. But just to add up, if you'd like to save money, we can also use some other free VPNs from playstore. I am using VPN FREE for several years now and i can say that it's great and safe.

  2. dude
    on June 30, 2018
    Reply

    Just started using PIA... and in the first week got a little copyright infringement letter. wouldnt recommend them at all.

    1. Douglas Crawford replied to dude
      on July 2, 2018
      Reply

      Hi dude, Ouch! I must say that I'm surprised. PIA has a good reputation for protecting its customers.

  3. Manny
    on May 25, 2018
    Reply

    Any reviews on privateinternetaccess?

    1. Douglas Crawford replied to Manny
      on May 25, 2018
      Reply

      Hi Manny, Private Internet Access Review :).

  4. chris
    on April 9, 2018
    Reply

    how come you have not reviewed Torrent Privacy in your list?

    1. Douglas Crawford replied to chris
      on April 16, 2018
      Reply

      Hi chris, We simply haven't got round to reviewing TorrentPrivacy yet (there are a lot of new VPN services out there!). I am therefore not familiar with its service, so have no idea whether it would qualify for this 5 best list - but it would be up against well established and highly professional competition.

We apologize, our comments section is under maintenance. Please check back soon.